पुराने ज़माने की नौकरियाँ, जिनके बारे में आपने शायद ही सुना हो

जैसे-जैसे नये वैज्ञानिक रिसर्च और टेक्नोलॉजी का विकास होता गया वैसे-वैसे हमारी लाइफ स्टाइल और काम करने के तरीकों में भी बदलाव आता गया. बहुत से ऐसे काम जो हम किया करते थे, अब वो मशीन करने लगी हैं. पुराने समय में कुछ ऐसी जॉब्स भी थीं, जिन पर आज की जनरेशन शायद यकीन न करे.

उस वक़्त जब मशीन का इस्तेमाल धीरे धीरे बढ़ रहा था, फिर कुछ इस तरह की जॉब्स थी जिनके बारे में सुन/पढ़ कर आपको जरूर अचरज होगा.

1. लैंप लाइटर

मौजूदा समय में स्ट्रीट लाइट शाम होते ही अपने आप जल जाती हैं, लेकिन एक जमाने में स्ट्रीट लाइट की जगह गैस के लैंप हुआ करते थे. इन लैंपों को जलाने का काम “लैंप लाइटर” करते थे. वे शाम होते ही खंभों पर चढ़कर लैंप में गैस भरते थे और उन्हें जलाते थे.

2. टाइप सेटर

आज टाइप कर के प्रिंट करना कोई बड़ी बात नहीं है,  कोई छोटा बच्चा भी कर सकता है लेकिन 1980 में कुछ भी प्रिंट करने के लिए एक-एक शब्द को हाथों से सेट किया जाता था और उसके बाद प्रिंट किया जाता था. इस काम को करने वाले टाइप सेटर कहलाते थे.

3. स्विचबोर्ड ऑपरेटर

आज हम एक झटके में किसी को मोबाइल या फ़ोन पर नंबर डायल करते हैं और बात कर लेते हैं, लेकिन कुछ दशक पहले ऐसा नहीं था. टेलीफोन के शुरूआती दिनों में अगर किसी को फोन लगाना है तो आपको पहले जीरो डायल करना पड़ता था. उसके बाद ऑपरेटर को नंबर बताना पड़ता था, जो उसे मिलाकर देता था, तभी किसी से बात हो पाती थी.

4. टाउन कैरी

जब रेडियो, टीवी, इन्टरनेट कुछ नहीं था तब भी लोग ख़बरें सुना करते थे. तब ये ख़बरें सुनाने का काम “टाउन कैरी” किया करते थे. ये लोग हाथ में माइक लेकर घूम-घूम कर लोगों को ख़बरें सुनाते थे. न्यूज सुनाने का ये तरीका यूके और अमेरिका के कई भागों में 20वीं सदी में भी इस्तेमाल होता था. UK में आज भी कुछ ख़ास मौकों पर लोगों को समाचार सुनाने काम टाउन कैरी करते हैं.

5. आइसमैन

आज घर-घर में फ्रिज है इसलिए जब चाहें तब हम बर्फ का उपयोग कर सकते हैं लेकिन एक ज़माना ऐसा भी था जब बर्फ केवल बड़े पैसे वाले लोगों की पहुँच में ही हुआ करती थी. उस समय यूरोपीय देशों में आइस मैन हुआ करते थे, जो बर्फ के बड़े-बड़े ब्लॉक्स को कंधों पर उठाकर लोगों के घरों में डिलिवर किया करते थे.

6. नॉकर अप

एक जमाने में इंग्लैंड और आयरलैंड में नॉकर अप रखे जाते थे. इनका काम सुबह-सुबह दरवाजा खटखटाकर लोगों को जगाना होता था. इन्हें आप human alarm भी कह सकते हैं.

source

What do you think?

0 points
Upvote Downvote

Total votes: 0

Upvotes: 0

Upvotes percentage: 0.000000%

Downvotes: 0

Downvotes percentage: 0.000000%

Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Loading…

Comments

comments

अपनी रिज़र्व सीट पर नहीं बैठ पाये थे, अब रेलवे देगा 75000 हर्जाना

हमारे फेसबुक मैसेंजर से जुड़िये