केवल दो हफ्ते में मोटापा / पेट की चर्बी कैसे कम करें

motapa kam karne ke upay pranayam serial baba ramdev yoga

पेट के चारो ओर जमा चर्बी (बेली फैट: belly fat) और शरीर के दूसरे हिस्सों में मौजूद चर्बी दरअसल एक प्रकार की हानिकारक फैट है जिसे 15 दिनों में भोजन और कसरत के जरिये कम किया जा सकता है. तो आइये जाने कैसे आप अपने शरीर में मौजूद फैट को कम कर सकते हैं और मोटापे के कारण होने वाली दूसरी बीमारियों से बच सकते हैं.

motapa kam karne ke upay pranayam serial baba ramdev yoga
via

बेली फैट क्या है ?

बेली फैट, एक प्रकार का विसरल फैट(visceral fat) है जो पेट की मांसपेशियों के नीचे मौजूद होती है. इसी तरह का फैट शरीर के दुसरे हिस्सों में जमा हो सकता है. जब ये सामान्य से ज्यादा मात्रा में जमा हो जाये तो इसे खतरे की घंटी समझना चाहिये. motapa kam karne ke upay pranayam serial baba ramdev yoga

बेली फैट क्यों खतरनाक है ?

बेली फैट या शरीर के दुसरे हिस्सों में मौजूद फैट जरुरत से ज्यादा हार्मोन और केमिकल पैदा कर आपके शरीर के दूसरे अंगों को नुकसान पहुंचा सकती हैं. अगर यह बहुत ज्यादा जमा हो जाए तो इससे कई बीमारियाँ हो सकती हैं जैसे दिल से जुडी हुई बीमारियाँ, डायबिटीज, कोलोरेक्टल कैंसर इत्यादि. motapa kam karne ke upay pranayam serial

motapa kam karne ke upay pranayam serial baba ramdev yoga
via

बेली फैट से जुडी झूठी बातें(myth):

पेट के चारो ओर जमा चर्बी (बेली फैट) को लेकर लोगों के बीच बहुत सारी गलत धारणायें हैं. इनमे से कुछ आप मन में भी होंगी.

  • Green Tea पी कर इसे कम किया जा सकता है.
  • सुबह सुबह केवल गरम पानी या फिर नीम्बू-शहद वाला गरम पानी पीने से यह घट जाता है.
  • अगर आपका BMI नार्मल है तो ज्यादा बेली फैट चलता है.
  • फैटी खाना नहीं खाने से यह कम हो जाता है.
  • पेट की कसरत(Ab Exercise) करने से यह कम हो जाता है.
  • केवल स्वीमिंग करने से वजन घटता है.
  • कॉफ़ी पीने से यह घट जाता है.
  • मात्र रोज 8 घंटे सोने से यह घट जाता है.
  • कुछ लोग पैदाइसी बेली फैट वाले होते हैं.
  • क्योंकि मेरे माता-पिता मोटे हैं, इसलिए मैं भी मोटा हूँ.
  • बियर पीने से यह होता है.
  • यह हड्डियों की सुरक्षा करता है.

लिहाज़ा आपको अब बेली फैट के बारे में सही तथ्य जानना चाहिये:

बेली फैट से जुड़े सही(true) बातें :

  • बेली फैट को शरीर के दूसरे हिस्सों में मौजूद फैट की तरह एक झटके में कम नहीं किया जा सकता है, बल्कि सही भोजन और सही कसरत से ही हटाया जा सकता है.
  • जब भी वजन कम करने का ख्याल आता है, लोग अपने भोजन में कमी करते हैं या फिर उपवास करने लगते हैं. इससे हमारे शरीर को ये गलत सूचना मिलती है कि भोजन कम मिल रहा है और वह जो भी भोजन मिल रहा है उसे फैट में बदल कर जमा करने का काम करने लगता है ताकि एमरजेंसी (यानि भूख के समय) इस फैट का उपयोग किया जा सके. लिहाज़ा भूखे न रहें. इसलिए आप सेहतमंद ताज़ा नाश्ता और भोजन करें. महिलाओं को प्रति दिन कम से कम 1,500 कैलोरी, जबकि पुरुषों को कम से कम 1,700 कैलोरी भोजन के रूप में लेनी चाहिए।
  • कुछ लोग क्लींजिंग या लिक्विड डाइट(तरल आहार) भी चालू करते हैं. इस प्रकार की डाइट तभी असरदार होती है जब साथ में आप स्वस्थ भोजन भी कर रहे हों. baba ramdev yoga
  • भोजन के साथ नियमित कसरत भी करें. motapa kam karne ke upay pranayam serial
  • नींद और तनाव भी पेट की चर्बी को कम करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। कम नींद और ज्यादा टेंशन करने से कोर्टिसोल नाम का हारमोन बनता है जिससे शरीर के बीच के हिस्से यानी पेट के आसपास, फैट का जमाव होने लगता है। pranayam serial baba ramdev yoga

तो आइये जाने कि आप अपने बेली फैट को कैसे कम करें.

बेली फैट को कैसे कम करें

बेली फैट और शरीर के दूसरे हिस्सों में मौजूद फैट को कम करने के लिए तीन चीजों पर एक-साथ ध्यान देना होगा:

  • भोजन
  • कसरत
  • नींद

 भोजन:

  • अपने भोजन में इन चीजों को शामिल करें: प्रोटीन, अनसेचुरेटेड फैट(unsaturated fat) और साबुत अनाज(whole grain)
  • ज्यादा से ज्यादा प्रोटीन इनमे पाया जाता है: सभी प्रकार की दालें, अंकुरित चने और मूंग, अंडे का सफेद भाग, मछली, चिकन या लाल मांस(बहुत कम चर्बी वाला)। प्रोटीन युक्त भोजन लेने के कई फायदे हैं: पहला, शरीर को प्रोटीन को पचाने के लिए ज्यादा से ज्यादा ऊर्जा की जरूरत होती है. दूसरा, यह मांसपेशियों को मजबूत बनाता है. जिससे फैट को पिघलने में मदद मिलती है. और यह प्रक्रिया ज्यादा असरदार तब होती है जब आप कसरत करते हैं. क्योंकि कसरत करने से शरीर का मेटाबोलिज्म तेज़ होता है लिहाज़ा शरीर का फैट और तेज़ी से पिघलता है. जब भी कसरत करें तो इस पॉइंट को जरूर याद रखें.
  • अनसेचुरेटेड फैट(unsaturated fat) इनमे पाया जाता है: नट्स(मूंगफली, काजू, बादाम जैसे ड्राई फ्रूट्स में), जैतून का तेल, अलसी और मक्खन.
  • साबुत अनाज(whole grain) में फाइबर होता है, और कम से कम कार्बोहाइड्रेट होता है, जो पाचन में सहायक होता है. दलिया, सेब, केला, अलसी, राजगिरा में पर्याप्त फाइबर होता है. मैदा से बने भोजन जैसे, पिज़्ज़ा, समोसा, पास्ता से बचें. वाइट ब्रेड की बजाय ब्राउन ब्रेड खायें.
  • कम से कम हफ्ते में एक बार अपने भोजन से जुडी खरीदारी खुद करें. जिससे आप अपने खाने में तरह तरह के आइटम ऊपर बताये अनुसार खुद चुन सकते हैं. सब्जियां लेते समय अलग अलग रंगों वाली तरह तरह की सब्जियां चुने.
  • पर्याप्त रूप से पानी पियें. baba ramdev yoga
  • अपने भोजन और नाश्ते में फलों और सब्जियों को ज्यादा से ज्यादा शामिल करें.
  • अपने भोजन में कम फैट वाले डेयरी प्रोडक्ट्स शामिल करें, जैसे दही, बिना मलाई वाला दूध और यहां तक कि कम वसा वाले पनीर.
  • मीठे की तुलना में कम मीठे  आइटम को चुनें।
  • आपका नाश्ता या भोजन इस प्रकार सेट करें कि इसमें तीनो तत्व(प्रोटीन, अनसेचुरेटेड फैट, और साबुत अनाज) मौजूद हों.

कसरत:

  • अपने कसरत में इन एक्टिविटी को शामिल करिये: कार्डियो और वेट ट्रेनिंग
  • कार्डियो: रनिंग (दौड़ना), स्वीमिंग (तैराकी), साइक्लिंग (सड़क पर साइकिल चलाना)। इसे रोज 30 मिनट तक करें.
  • हो सके तो जिम ज्वाइन करें और वह पर वेट / स्ट्रेंग्थ ट्रेनिंग करें ताकि वजन उठा कर शरीर की विभिन्न मांसपेशियों को थका सकें.
  • शरीर को सामान्य एक्सरसाइज कर के वार्म अप करें और फिर बहुत तेजी से दौड़े(स्प्रिंट), अगर आप नहीं दौड़ सकते हैं तो तेजी से पैदल चलें. इस प्रकार की कसरत से 3 से 5 गुना अधिक फैट बर्न होती है.

नींद:

रोजाना 6 से 7 घंटे नींद लें. motapa kam karne ke upay pranayam serial baba ramdev yoga

अगर आपको कोई पुरानी बीमारी है तो इन उपायों को अपनाने के पहले अपने डॉक्टर से जरूर सलाह ले लें.

निष्कर्ष:

जैसा कि पहले ही बताया जा चुका है कि बेली फैट एक प्रकार की हानिकारक फैट है. इससे पहले कि आपके शरीर और पेट के चारो ओर जमा चर्बी(बेली फैट) दूसरी बीमारियों को निमंत्रण दे, आप आज से ही इसे घटाने के लिए तैयारी करें.

motapa kam karne ke upay

pranayam serial

pranayam serial

baba ramdev yoga

baba ramdev yoga

Share Button

Comments

Loading…